How our phone or computer can be hack? हमारा फ़ोन या कंप्यूटर केसे हेक हो सकता है?

1
286

यह आर्टिकल आपके सारे दोस्तों को भेजो ताकि सब लोग इस hacking की दुनिया से बचे और आपने आप को सुरक्षित रखे।

आज कल के इस टेक्नोलॉजी जीवन में हम मोबाइल,कंप्यूटर,लेपटोप इत्यादी से जुड़े रहते है, पर ये सब हमारे लिए इतनाही नुकसान कारक बन सकता है। तो आगे हम hacker केसे हमारी माहिती चुरा लेते हे वो देखेंगे की हमे हैकिंग से बचने के लिए क्या क्या ध्यान रखना चाहिए? ओर कैसे अपने आप को सुरक्षित रखे?

 

आप के पासवर्ड,मोबाईल,कंप्यूटर कैसे Hack हो सकता है?

  • फिशिंग (phishing in hacking)
  • दूसरे यूजर ने पासवर्ड सेव कर लिया हो।
  • वेवसाइटका डेटाबेस hack हो जाये।
  • छुपी हुई एप्लीकेशन (hidden app)
  • वाइरस अटेक(Virus attack)

फिशिंग (phishing in hacking)

फिसिंग हैकिंग तकनीक से कोई हेकर कोईभी वेबसाइट के जेसीही वेबसाइट बनाता हे और उसमे आपसे किसीभी तरह लॉग इन करने के लिए बोलते हे। हलाकि वो कोई ऑफिसियल वेबसाइट नहीं होती हे तो आप लॉग इन नहीं कर पते पर आपने जो पासवर्ड और यूजरनेम डाला हो वो हैकर के पास पोहच जाता हे। और आप यही सोचके वेबसाइट को छोड़ दोगे की कोई वेबसाइट का प्रॉब्लम होगा। जेसे आप  फोटो में देख सकते हो की facebook.com की जगह face-book.com लिखा हुआ हे और पूरा पेज बिलकुल फेसबूक जेसा ही हे।

एसा होने से बचने के लिए कही पर भी आप अपना लॉग इन करे या बैंक डिटेल्स डाले तो सबसे पहले वेबसाईट का नाम देखना ना भूले।

 

दूसरे यूजर ने पासवर्ड सेव कर लिया हो  

कही बार एसा होता हे की आप अपने दोस्त के कंप्यूटर में से कोई साईट में लॉग इन करे तो सायद वो आपका पासवर्ड सेव करले या तो उसके कंप्यूटर में एशि प्रोग्रामिंग करके रखे की कोई भी अगर ब्राउसर में यूजरनेम और पासवर्ड डाले तो उसके कंप्यूटर में ऑटोमेटिक सेव हो जाए तो आप ये ध्यान रखे की कोई भी अविश्वसनीय लोगो के क्प्म्पुटर में लॉग इन ना करे।

 

वेवसाइटका डेटाबेस hack हो जाये।

कभी तो एसा भी हो सकता हे की आप जिस वेबसाइट में लॉग इन कर रहे हो उस वेबसाइट कंपनी का डेटाबेस ही हेक हो जाये। यानी की इस केस में आपकी कोई गलती नहीं होती पर अगर आपने अपने ईमेल,सोसिअल मीडिया, और दूसरी सभी वेबसाइट में एक जेसा ही पासवर्ड रखा हो तो आप सभी वेबसाइट का डेटा खो सकते हो।

इस से बचने के लिए आप यह ध्यान रखे की आप आलतू फालतू वेबसाइट का और  अपने ईमेल और बैंक का पासवर्ड एक सामान न रखे।

 

छुपी हुई एप्लीकेशन (hidden app)

ये हैकिंग तकनीक android यूजर के लिए बहुत ही खतरनाक हे। क्युकी इस से आपके फ़ोन में hacker जो मरजी वो देख सकता हे।

इस मेथड में hacker आपके फोन में एसी एप्प दाल देता हे जिसका लोगो आरपार(transparent) का दिख सके ऐसा होता हे और एप्प के नाम में खली जगह(space)  होती हे। और आपसे सभी परमिसन मांग लेते हे और आप अनजाने में अनुमति(allow) दे देते हे।

इस से बचने के लिए आप ये ध्यान रखे की बिना सोचे समजे किसी भी एप्प को अपने डेटा एक्सेस करने की अनुमति ना दे ।

 

वाइरस अटेक(Virus attack)

इसे बहुत सारे वायरस से जो आपके सारे डेटा कोई सरवर पे भेजते रहते हे और hacker वो डेटा का गलत इस्तमाल करते हे। जेसे आपके ब्राउज़र में सेव किये गए पासवर्ड को देखना, आपके ब्राउसर का इतिहास(history) इत्यादि डेटा चुरा सकते हे।

1 COMMENT

Leave a Reply